• जीएसटी के विज्ञापन पर सरकार ने किए 132.38 करोड़ रुपये खर्च

    जीएसटी के विज्ञापन पर सरकार ने किए 132.38 करोड़ रुपये खर्च

    माल एवं सेवाकर (जीएसटी) के विज्ञापन पर सरकार ने 132.38 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत काम करने वाली एक एजेंसी ने एक आरटीआई के जवाब में यह जानकारी दी है।

  • #GST : गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे: #राहुलगाँधी

    #GST : गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे: #राहुलगाँधी

    राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ट्वीट कर कांग्रेस के और मोदी सरकार के जीएसटी में क्या अंतर है यह समझाने की कोशिश की। उन्होंने बताया- "कांग्रेस जीएसटी = जेन्यूइन सिम्पल टैक्स। मोदीजी जीएसटी = गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे।"

  • #GST : गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे: #राहुलगाँधी

    #GST : गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे: #राहुलगाँधी

    राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ट्वीट कर कांग्रेस के और मोदी सरकार के जीएसटी में क्या अंतर है यह समझाने की कोशिश की। उन्होंने बताया- "कांग्रेस जीएसटी = जेन्यूइन सिम्पल टैक्स। मोदीजी जीएसटी = गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे।"

  • #GST : गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे: #राहुलगाँधी

    #GST : गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे: #राहुलगाँधी

    राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ट्वीट कर कांग्रेस के और मोदी सरकार के जीएसटी में क्या अंतर है यह समझाने की कोशिश की। उन्होंने बताया- "कांग्रेस जीएसटी = जेन्यूइन सिम्पल टैक्स। मोदीजी जीएसटी = गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे।"

  • #GST : गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे: #राहुलगाँधी

    #GST : गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे: #राहुलगाँधी

    राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ट्वीट कर कांग्रेस के और मोदी सरकार के जीएसटी में क्या अंतर है यह समझाने की कोशिश की। उन्होंने बताया- "कांग्रेस जीएसटी = जेन्यूइन सिम्पल टैक्स। मोदीजी जीएसटी = गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे।"

  • गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    जिला टैक्सेशन बार ऐसोसिएशन के प्रधान नवीन गुप्ता एडवोकेट के अनुसार चार-चार मासिक रिर्टन भरना सम्भव ही नही है। प्रधान नवीन गुप्ता ने आगे कहा कि व्यापारी व अधिवक्ता पिछले तीन महीनों में मानसिक व शारीरिक रुप से परेशान हो चुके है। मौजूदा सरकार सरलीकरण के नाम पर रिर्टन पर लेट फीस लगाकर व्यापारियों का मानसिक व आर्थिक शोषण कर रही है।

  • गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    जिला टैक्सेशन बार ऐसोसिएशन के प्रधान नवीन गुप्ता एडवोकेट के अनुसार चार-चार मासिक रिर्टन भरना सम्भव ही नही है। प्रधान नवीन गुप्ता ने आगे कहा कि व्यापारी व अधिवक्ता पिछले तीन महीनों में मानसिक व शारीरिक रुप से परेशान हो चुके है। मौजूदा सरकार सरलीकरण के नाम पर रिर्टन पर लेट फीस लगाकर व्यापारियों का मानसिक व आर्थिक शोषण कर रही है।

  • गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    जिला टैक्सेशन बार ऐसोसिएशन के प्रधान नवीन गुप्ता एडवोकेट के अनुसार चार-चार मासिक रिर्टन भरना सम्भव ही नही है। प्रधान नवीन गुप्ता ने आगे कहा कि व्यापारी व अधिवक्ता पिछले तीन महीनों में मानसिक व शारीरिक रुप से परेशान हो चुके है। मौजूदा सरकार सरलीकरण के नाम पर रिर्टन पर लेट फीस लगाकर व्यापारियों का मानसिक व आर्थिक शोषण कर रही है।

  • गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    जिला टैक्सेशन बार ऐसोसिएशन के प्रधान नवीन गुप्ता एडवोकेट के अनुसार चार-चार मासिक रिर्टन भरना सम्भव ही नही है। प्रधान नवीन गुप्ता ने आगे कहा कि व्यापारी व अधिवक्ता पिछले तीन महीनों में मानसिक व शारीरिक रुप से परेशान हो चुके है। मौजूदा सरकार सरलीकरण के नाम पर रिर्टन पर लेट फीस लगाकर व्यापारियों का मानसिक व आर्थिक शोषण कर रही है।

  • गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    गुरुग्राम: #GSTके विरोध में व्यापारी व अधिवक्ता उतरेगें सड़क पर

    जिला टैक्सेशन बार ऐसोसिएशन के प्रधान नवीन गुप्ता एडवोकेट के अनुसार चार-चार मासिक रिर्टन भरना सम्भव ही नही है। प्रधान नवीन गुप्ता ने आगे कहा कि व्यापारी व अधिवक्ता पिछले तीन महीनों में मानसिक व शारीरिक रुप से परेशान हो चुके है। मौजूदा सरकार सरलीकरण के नाम पर रिर्टन पर लेट फीस लगाकर व्यापारियों का मानसिक व आर्थिक शोषण कर रही है।

Advertisement